fbpx

My cart0

Positive effects on the body with the pronunciation of ॐ |ॐ के उच्चारण से शरीर पर होने वाले सकारात्मक प्रभाव – Creata Poojaghar
Share:
Ohm Effect Creata Poojaghar

ॐ तीन अक्षरों से बना है, ओउ और म
अ का अर्थ है उत्पन्न होना
उ का तरपरया है उठाना, उड़ाना अर्थात विकास
म का मतलब है मौन ही जाना अर्थात ब्रम्हलीन हो जाना

ॐ सम्पूर्ण ब्रम्हांड की उत्पत्ति का द्योतक है |

ॐ का आचरण शारीरक लाभ प्रदान करता है |

ॐ का आचरण करने से गले में कम्पन पैदा होती है, जो थाइरॉयड ग्रंथि पर सकारात्मक प्रभाव डालता है |

अगर आपको घबराहट या अधीरता होती है तो, ॐ के उच्चारण से उत्तम कुछ भी नहीं यह शरीर के विषैले तत्वों को दूर करता है, अर्थात तनाव के कारन पैदा होने वाले द्रव्यों को नियंत्रित करता है |

ॐ के उच्चारण से पाचन शालती तेज़ होती है |

ॐ के हररोज़ के उच्चारण से शरीर में फिर से युवावस्ता वाली फुर्ती का संचार होता है |

यह ह्रदय और खून के प्रवाह को संकलित रखता है |

ॐ उच्चारण से थकान मिट जाती है |

नींद न आने की समस्या इससे कुछ ही समय में दूर हो जाती है |

ॐ के पहले शब्द का उच्चारण करने से कम्पन पैदा होता है, इस कम्पन से रीढ़ की हड्डी प्रभावित होती है और इसकी क्षमता बढ़ जाती है |

रात को सोते समय नींद आने तक मन में ॐ उच्चारण करने से निश्चिंत नींद अति है|

ॐ का उच्चारण करने से पूरा शरीर तनाव रहित हो जाता है |

ऐसी अधिक जानकारी और वीडियो के लिए हमरे चैनल को सब्सक्राइब करना न भूल |

Leave a Comment

Your email address will not be published.

X